लगन का फल – हिंदी motivational story


                


1. किसी गांव में अखिलेश और नीलेश नाम के दो मित्र रहते थे, दोनों बहुत ही आलसी, कामचोर और बहुत ही सरारती थे, सारा गांव उनकी सरारत से बहुत ही परेशान थे।  


किन्तु दोनों का आपस में बड़ा प्रेम था दोनों एक दूसरे की बात बहुत मानते थे, उसी गांव में एक बुजुर्ग व्यक्ति रहता था वह भी दोनों की शरारतों से बड़ा ही परेशान था।   

उसने एक बार अपने दिमाग में एक योजना बनाई जिससे की दोनों को सही रास्ते पर लाया जा सके, फिर वह अपनी योजना के मुताबिक उन दोनों के घर जाता है और दोनों को बताता है की तुम्हारे खेत में पंडित जी खजाने से भरे एक घड़े के होने की आशंका बताता है और वहां से चला जाता है। 


अब फिर क्या था, दोनों मित्र उस घड़े को निकालने की सोचने लगे ,फिर दोनों सारी रात उस खेत में पूरी लगन से खजाने से भरे घड़े को ढूढ़ने लगे ,और अगली सुबह पूरा खेत खोदने के बाद भी उन्हें घड़ा नहीं मिला। 


बस फिर दोनों उस बुजुर्ग से अपनी बात बताने लगे तो बुजुर्ग ने उन्हें उस खेत में फसल उगाने को कहा दोनों उसकी बात मानकर बीज बो दिए उनके खेतो में गांव भर में सबसे अच्छी ज्यादा पैदावार हुई ,फिर दोनों अपने अनाज को बेचा और खूब सारा धन पाया। 


फिर किसान ने अपने बंजर धरती में खेती करने को कहा और बताया की  लगन का फल मीठा होता है। 



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here