सकारात्मक सोच, ऊर्जा तथा चेतना से ही सहज होगा जीवन – जानिए पूरी जानकारी हिंदी में

क्या आप जानते हैं कि मनुष्य प्रकृति का ऐसा प्राणी है, जो समय के साथ-साथ हर परिस्थित के अनुरूप स्वयं को ढाल लेता है। मगर कई बार दुःख (grief) और शोक (mourning) इतना अधिक होता है कि समय के साथ भी उनकी यादें (memories) धूमिल नहीं पड़ती।

ऐसे में सामान्य जीवन जीने के लिए क्या करना चाहिए या फिर कौन-सा तंत्र है, जिसके प्रयोग करने से व्यक्ति सामान्य हो सकता है। Life Will Be Easy Only With Positive Thinking, Energy And Consciousness In Hindi.

सकारात्मक सोच, ऊर्जा तथा चेतना से ही सहज होगा जीवन

विपरीत परिस्थितियों से बाहर निकलने का एक बेहद सशक्त मार्ग है – मार्गदर्शक तंत्र, जिसे हम अंग्रेजी भाषा में Guiding Mechanism के रूप में जानते हैं। इससे यह अभिप्राय है कि हमारे (Mechanism Of Environment) परिवेश का तंत्र, जो हमारे व्यवहार को सबसे ज्यादा प्रभावित करता है।

इसलिए यदि हमें अपने जीवन (life) में किसी चीज को बदलना है तो सीधे उसे बदलने की बजाय उस तंत्र को बदल लें, जहां से वह चीज उत्पन्न होती है।

ऐसा करने से कुछ समय बाद हमारा व्यवहार और स्थिति दोनों ही बदल जाएंगी। अगर आप मांसाहार नहीं खाना चाहते तो इसे ख़रीदे ही नहीं। जब आप इसे खरीदेंगे ही नहीं तो निश्चिंत ही इसका सेवन भी नहीं कर पाएंगे।

यदि आपके अपने इस समय बिछुड़ गए हैं, उनके रोजगार छिन गए हैं और दिन-रात आप उन्हीं बातों को याद करते रहेंगे तो परिस्थितियों को संभालना बेहद कठिन हो जाएगा। इसलिए मार्गदर्शक तंत्र के जरिए इन घटनाओं घटनाओं से बाहर आने का प्रयास करें।

आपकी अपने जो खो गए हैं, बहुत बड़ा दुख है। लेकिन समय की धारा बहती रहती है। इस धारा के साथ आप भी आगे बढ़ते रहें। इच्छाशक्ति पर नियंत्रण करना उस समय मुश्किल होता है, जब हम बिखरे परिवेश, टूटी आशा को बार-बार याद करते हैं।

इसलिए बिखरे परिवेश और टूटी आशा के बजाय नई किरण के द्वार पर दस्तक दे। नई रश्मियां जीवन में प्रकाश लेकर आएंगी और जिंदगी को एक नए सिरे से सजाएंगे।

सकारात्मक सोच, ऊर्जा तथा चेतना से ही सहज होगा जीवन, Life Will Be Easy Only With Positive Thinking, Energy And Consciousness In Hindi, Think Positive

आपको लग रहा होगा कि बड़ी त्रासदी से गुजरकर संभालना इतना सहज होता तो बात ही क्या होती ? रह-रह कर उन लोगों की यादें विचलित कर देती हैं।

रात आंखों-आंखों में निकल जाती हैं। पलक झपकते नहीं, नींद आती नहीं और सुबह की लालिमा उठने का संकेत दे देती हैं। इस तरह रोजगार छिन जाने से फांके पड़ने की नौबत आ गई है। जाने किस पल क्या हो जाए, इसकी आहट मन को बेहद विकल कर देती है।

लेकिन त्रासदी के दौर से जितनी जल्दी निकला जा सके, उतनी ही जल्दी जिंदगी को पटरी पर लाने में सहजता रहती है।

अगर लगातार नकारात्मक बातें एवं घटनाओं को याद किया जाता रहेगा तो धीरे-धीरे स्वस्थ शरीर और मन दोनों ही बीमार हो जाएंगे। सब कुछ बिखरने के बाद स्वयं को सहेजना ही होता है। यही जीवन की गति है और यही परिवर्तन है। चलिए इसे एक story की मदद से समझते हैं। 

“होमर की ओर ओडिसी में ओडिसीयस और उनके जहाजी जलपरियों के टापू के पार जहाज निकालने की तैयारी करते हैं। ये जलपरियां इतना मीठा गाती थी कि अनभिज्ञ जहाजी अपने होशो हवास खो बैठते थे और जहां चट्टानों से टकरा जाता था।

ओडिसीयस ने जलपरियों के प्रलोभन का प्रतिरोध करने के लिए इच्छाशक्ति पर विश्वास नहीं किया। इसके बजाय उन्होंने मार्गदर्शक तंत्र को ही सहारा लिया और अपने उस परिवेश को ही बदल लिए, जिस कारण ऐसी दुर्घटनाएं होती थीं।

उन्होंने जहाज पर बैठे लोगों के कान बंद कर दिए और खुद के जहाज के मस्तूल से बांध दिया। इस कारण उनके ऊपर जलपरियों के जादू का कोई प्रभाव नहीं पड़ा।

ना ही उनकी मधुर ध्वनि उनके कानों में पड़ी और ना ही वह भावनाओं में बहे। इस कारण वे सुरक्षित अपने नगर तक पहुंच गए।”

इस कहानी से हमें यह सीख लेनी चाहिए कि हमें किसी भी समस्या को solve करने से पहले उसके जड़ को ढूंढे। क्योंकि अगर जड़ अर्थात मूल समस्या को ही ख़त्म कर देंगे तो समस्या खुद में खुद हमेशा के लिए ख़त्म हो जाएँगी। 

हमारी अंतिम राय – 

अगर हम अपने आसपास के परिवेश को बदल दें तो हमारे अंदर के व्यवहार धीरे-धीरे स्वयं बदल जाता है। इसके साथ-साथ खुद को इतना व्यस्त रखे की नकारात्मक विचार (negative thoughts) के बारे में बिलकुल time न मिले। क्योंकि जब व्यक्ति व्यस्त रहता है तो उसके मस्तिष्क में नकारात्मक स्थान बनाने का अवसर नहीं मिल पाता। 

हम उम्मीद करते हैं कि आपको यह लेख Life Will Be Easy Only With Positive Thinking, Energy And Consciousness In Hindi अर्थात सकारात्मक सोच, ऊर्जा तथा चेतना से ही सहज होगा जीवन  पसंद आया होगा। अगर फिरभीआपको इस लेख को लेकर कोई doubts है तो हमें कमेंट लिख सकते हैं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here