#swasth rahne ke upay|Very Important ideas for health|

#swasth rahne ke upay|Very Important ideas for health|

दोस्तों ! आज हम swasth rahne ke upay और स्वस्थ रहने के तरीके जिससे हम अपने स्वास्थ्य को better कैसे banaye इससे related very important ideas for health के बारे में जानेंगे। जिनको अपनाकर अपने जीवन को सुखी और दीर्घायु बना सकते हैं।  


आयु (गुण) और सौंदर्य -दोनों सदैव साथ - साथ चलने चाहिए। मनुष्य आयुष्मान भी हो और रूपवान भी। जहां सौ वर्ष जीना चाहिए , वहाँ सौ वर्ष तक सौंदर्ययुक्त जीवन जीना चाहिए। 

Swasth Rahne Ke Upay 

हमारे देश में प्रथा है की जब कोई किसी वृद्ध माता को प्रणाम करता है तो वह उसे आयुष्मान हो का आशीर्वाद देती हैं। परन्तु हमारे विचार से यह अधूरा आशीर्वाद है। इसलिए आयुष्मान हो निरोगी जीवन के लिए दो शब्द  और  रूपवान रहो अथवा औष्मती हो , सुरूपवती हो और इस प्रकार का पूर्ण आशीर्वाद देना चाहिए। 



जीवन के साथ आकर्षण होना ही चाहिए।  आकर्षणहीन जीवन निरर्थक जीवन है। जीवन की सार्थकता आकर्षण में है। आकर्षण  सौंदर्य का है। रूपमयी सुन्दर आकृति सबके अपने आप को सेहतमंद कैसे रखे  हृदय को अपनी और खींच लेती है। जबकि असुंदर आकृति की ओर अपने पराये सभी मुँह फेर लेते हैं। 



परम  गुणवान युक्त सुन्दर होने के कारण भक्तजन भगवान् के दर्शन की अभिलाषा करते हैं। यदि भगवान् निःस्वार्थ  नहीं होते तो उन्हें हमारे शरीर को स्वस्थ रखने के लिए Top Secret Dry Foods कोई भी उनके दर्शन के अभिलाषा नहीं करता। निःस्वार्थ  भगवान् का भक्त भी सुन्दर होना चाहिए। 



वृद्धावस्था में सौंदर्य रहना चाहिए चाहे  भले ही बाल और रोम सफ़ेद हो परन्तु उसमे सौंदर्य आवश्य होना चाहिए। इस प्रकार त्वचा का लावण्य बने रहना चाहिए। 


वायु के सेवन के लाभ 

हमें प्रायः प्रदुषण मुक्त स्वच्छ और शीतल वायु का सेवन करना चाहिए। सुबह की शीतल वायु से फेफड़ो के अनेक रोगो का इलाज हो जाता है। 



धूप 


सूर्य की किरणों से कई प्रकार के रोग के कीटाणु नष्ट हो जाते हैं। सूर्य की किरणों से हमारे शरीर को उचित मात्रा में vitamin -डी प्राप्त होती है। जो हमारे शरीर की हड्डियों और त्वचा के लिए बहुत जरुरी होता है। 




Post a comment

please do not enter any spam link in the comment box