#रुकना मना है|Never stop in life|best motivation speech|

#रुकना मना है|Never stop in life|best motivation speech|


 इंसान को हमेशा बड़ी जिन्दगी जीना चाहिए। और हर मौके पर सीखने और करने के लिए तैयार रहना चाहिए। जब हम किसी भी motivational speech in hindi theory को पढ़ते हैं व् समझते हैं तब अधिकतर लोग इस बात  का अनुभव किया होगा कि जो चीज हमे intellectually समझ में आती है उसको हम अपने जीवन में उतार लेते हैं। जो अपने आप में एक super power होती है।



 इंसान के  जीवन में संघर्ष एक लड़ाई ही नहीं बल्कि एक comfort zone  तोड़ने का एक साधन  है , जिसे  हरेक person को अपने जीवन में तोड़ना चाहिए। जिससे हम डर का सामना कर सके। इसलिए हमे हमेशा confident और charismatic नजर आना चाहिए। हमे हमेशा taoism से inspired रहना चाहिए। 



best-motivational-speech,success kaise bane




Taoism कहता है कि सच यानी Tao (universal truth ) जिसे हम भगवान ,ईश्वर ,अल्लाह स god कहते हैं। जिसे दिमाग से नहीं how to control our mind जाना जा सकता बल्कि experience से महसूस किया जा सकता। हर इंसान सच तक अपने तरीके से पहुंच सकता है। इसलिए हमें यह accept करना  कि इंसान को हमेशा समय और   जीवन के साथ बहना होगा। 



Taoism में जीने के लिए हमे अपने instincts और guts  पर  विश्वास  होना चाहिए। Be Like Water - अर्थात हमे अपने जिंदगी को बदलते रहना चाहिए। अगर समय के साथ बदलना नहीं सीखा तो हमेशा रूकावट अर्थात resistance झेलते रहोगे। अगर हम life में अक्सर रूकावट झेलते हैं तो हमने अभी तक परिस्थित के साथ बदलना नहीं जाना। 






जीवन एक पानी अर्थात जल की तरह है। लेकिन कुछ लोग सोचते हैं कि पानी शांति के निशानी है। लेकिन हमारी नजर में पानी अपने आप में बहुत शक्तिशाली है। क्योंकि पानी को हम रोक नहीं सकते , क्योंकि पानी का स्वभाव है कि नियमित बहना। 



जीवन में challenge तो आते ही रहते हैं , लेकिन असली कला तो वो है कि बिना परेशान हुए challenge को accept करना और बिना मन की शांति को खोये how to increase positive energy हुए उसे पूरा करना। क्योंकि रुकी हुई जिंदगी थम जाती है , इसलिए हमेशा चलते रहना चाहिए। 





हमे हमेशा अपनी सोच में clarity रखना चाहिए। चाहे  नजर में भले ही गलत हो , किन्तु अगर हममे clarity नहीं होगी तो हम किसी भी तरह के actions नहीं ले सकते।किसी भी चीज देखो , करो लेकिन अपने experience से समझो तब knowledge wisdom अर्थात बुध्दि में convert  जायेगी। हर गैर जरूरतों को अपनी जिंदगी से हटा देना चाहिए। 




हमे हमेशा बिना काम के चीजों को नहीं करना चाहिए। क्योंकि simpicity , satisfaction और  self -developnment की चाभी है। ज्ञान की कोई सीमा नहीं होती है। जैसे - जैसे मूर्तिकार पथ्थर से बेकार की चीजों को हटाता जाता है , वैसे - वैसे पथ्थर मूर्ति का आकार ले लेता है। 




जैसे - जैसे हमारे life से distraction कम होता जाएगा वैसे - वैसे हमारे life में purpose और motivation भरता जायेगा। इसलिए अभी  motivation ढूढ़ने से ज्यादा practical होगा की अपने दिन में 50% distraction काम कर दे। हर इंसान की व्यक्तिगत capacity पर भरोसा करना चाहिए और किसी से copy नहीं करना चाहिए।


लोग अपना समय दूसरो  जैसे बनने में लगाते हैं। इसलिए उनको काम और personality में कोई originality x-largeदिखता। इसलिए  हमारा  mind अगर development पर focusd है तो distraction  में समय और energy waste नहीं होगा। 


हमें जीवन में आगे बढ़ने के लिए अपने कामो को जानने के लिए अपने काम  पर involve होना पड़ेगा। हमें अपने knowledge से अपने life के quality को बढ़ाना चाहिए। हमे सफल  होने से पहले failure से गुजरना ही पड़ता है , problem failure नहीं है, बल्कि massive अर्थात serious action लेना नहीं है।  


इसलिए failure नहीं बल्कि  छोटे goal बनाना जुर्म  है। 



Post a comment

please do not enter any spam link in the comment box