कोरोना राष्ट्रीय आपदा घोषित

कोरोना राष्ट्रीय आपदा घोषित



Doctors के सलाहों के अनुसार राष्ट्रीय आपदा घोषित कोरोना वायरस के निम्न लक्षण पाए गे हैं। बुखार , खासी , सांस लेने में दिक्कत यह सभी या इनमे से कोई भी लक्षण हो सकता है।


 गंभीर मामलो में निमोनिया और सांस लेने में बहुत ज्यादा मुश्किल हो सकती है। कुछ दुर्लभ मामलो में इसका संक्रमण जानलेवा भी हो सकता है।

इसके लक्षण सामान्य सर्दी जुखाम जैसे होते हैं। इसलिए टेस्ट कराना जरुरी है। ताकि पुष्टि हो सके कि संक्रमण कोरोना वायरस यानी कोविड - 19 का ही है। कहा जाता है कि कोरोना वायरस  फेफड़े में पहुंचने से पहले यह चार दिनों तक गले में रहता है। 


और इस समय व्यक्ति को खासी होने लगती है और गले में दर्द होने लगता है। हाथ न मिलाएं , गले न लगे , अनावश्यक यात्रा न करे , भीड़ - भाड़ वाले स्थान जैसे - रेलवे स्टेशन , बस स्टैंड , बाजार , मॉल , धार्मिक संथाओं , मेले , सार्वजानिक पार्क में अत्यधिक संख्या में  रुकना मना है  आम नागरिक उपस्थित रहते हैं। 


अतः ऐसे स्थानों पर जाने से बचे। यदि आपको खासी और बुखार हो तो किसी के संपर्क में न आये। 


"कोरोना  वायरस से बचाव "

लगातार हाथ धोते रहें और जरुरत पड़े , तभी किसी व्यक्ति  के शारीरिक संपर्क में आएं। स्वच्छता बनाये रखना बहुत आवश्यक है। आप मास्क भी पहन सकते हैं। छीकते या खासते समय अपने चेहरे को ढककर रखे। 


इसलिए हमें बिना हाथ धोए अपने आँख , नाक , मुँह और दुसरो से हाथ न मिलायें। क्योंकि इन्हीं चींजो से कोरोना वायरस हमारे शरीर  के अंदर प्रवेष करता है। 



अगर आप को शक है कि आपमें कोई ऐसा लक्षण हो तो नजदीकी अस्पताल में जाएं। यह मुख्य रूप से हमारे फेफड़ो को ज्यादा प्रभावित करता है। 


कोरोना  के कारण हमारे फेफड़ो या lungs में कफ जम जाता है। जिससे सांस लेने में तकलीफ होती है और जिससे मरीज की मृत्यु हो जाती है। 


"कोरोना  वायरस राष्ट्रीय आपदा घोषित"



कोरोना वायरस की उत्पत्ति चीन से हुई है। यह वायरस अब कई देश में महामारी का रूप बन चुकी है। इसलिए इसे राष्ट्रीय आपदा  अर्थात महामारी का नाम दिया जा चुका है। यह चीन सहित दुनिया के अधिकांश देशो में अपना स्थान बनाने में सफल रहा है।

इस महामारी का असर भारत में भी फैल गया है। यह बीमारी सरकार की कई योजनाओं को असफल बनाते हुए अपना मार्ग बढ़ा रही है। सरकार इस महामारी को आपदा व् भयानक रूप बताया है। कोरोना राष्ट्रीय आपदा घोषित अपने वायरस से  कई देशो को अपनी महामारी के चपेट  में ले चुका है।  


इस महामारी के चलते  सरकारे  अपनी कई योजनाओ को स्थगित कर रही है। तथा खेल विभागों में भी बदलाव देखने को मिल रहा है। कोरोना वायरस के लेकर सरकार भले ही गंभीर हो , और उसके द्वारा निरंतर advisory जारी की जा रही हो , लेकिन कई जिलों के  स्वास्थ्य विभाग इस बात को लेकर गंभीर नहीं हैं। 


जिसके कारण कई  लोगो की मौते  हो चुकी है। ऐसे संक्रमित देश से आने वाले लोगों को isolation ward में भर्ती न किया जाना स्वास्थ्य विभाग की एक बड़ी लापरवाही होगी। 


नियमानुसार भारत से बाहर अन्य किसी देश से आने वाले हर व्यक्ति पर स्वास्थ्य मामले को निगरानी में रखने के आदेश है। यहाँ तक उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती करने एवं जांच रिपोर्ट आने तक 14 दिनो तक अस्पताल में रखने के स्पष्ट निर्देश हैं। 


कोरोना के चलते IPL भी कुछ दिनों  के लिए स्थगित कर दिया गया है तथा अंतराष्ट्रीय स्तर पर होने वाले मैच भी रद्द हो गए है। इस कोरोना राष्ट्रीय आपदा घोषित महामारी से खिलाड़िओ का एक देश से दूसरे देश में आना - जाना बंद हो गया है। तथा खिलाडी आपस में हाथ मिलाने से भी पीछे हट गए हैं। 



कोरोना वायरस के डर से Mumbai के कोलवा के मौलाना हाउस में नमाज जो बंद कर दिया गया है । तथा वायरस का असर ख़त्म न होने तक , नमाज बंद रहेगा। राष्ट्रीय आपदा घोषित कोरोना के चलते भारत में शिक्षा संस्थान बंद कर दिए गए  हैं  , आंगनवाड़ी से लेकर विवि तक  बंद कर दिए गए हैं। 



बच्चो के classes नहीं लगेंगी  , केवल सरकारी और प्राइवेट शिक्षकों को ही इससे छूट नहीं है। उन्हें विद्यालय जाना होगा और बाकि सब कुछ बंद रहेगा। America के washington डीसी का फेरागुट मेट्रो स्टेशन जहां कभी पैर रखने की जगह नहीं होती थी , इन दिनों कोरोना वायरस के कहर के चलते  खली पड़ा हुआ है। 



Amazon जैसे प्रमुख नियोक्ता और अन्य कंपनियों ने वायरस के तेजी से फैलने के खतरे को देखते हुए कर्मचारिओं को घर से काम करने को कहा है। अमेरिका सिएटल में कोरोना वायरस की असंकायों के कारण भारी सड़के अर्थात व्यस्त सड़के भी इन दिनों खाली हैं। 



तिहाड़ में कोरोना का खौफ बढ़ रहा है , और कैदियों के लिए आइसोलेशन वार्ड बनाये जा रहें हैं। कोरोना वायरस के चलते हर चीज ठप्प हो रही है। मार्केट  धीरे - धीरे गिर रहा है , तथा बिक्री में भी बदलाव आ रहा है। Britain इस वायरस से पहले  से ही जाग गया था , वर्ना कई लोगो की जान  जाने की शंका बन जाती। 



कोरोना का कहर मूडीज ने भारत की जीडीपी का ग्रोथ का अनुमान घटाया। चीन के वुहान शहर में से शुरू हुआ यह  कोरोना वायरस का कहर वैश्विक स्तर पर बढ़ता ही जा रहा है। इसका असर फरवरी माह के दौरान भारत में विनिर्माण गतिविधियों पर देखा गया है। 



फरवरी दो हजार बीस में भारत में manufacturing सेक्टर से जुडी गतिविधियों की रफ़्तार सुस्त रही। IHS market India की विनिर्माण का क्षेत्र का पर्चेसिंग मैनेजर,इंडेक्स फरवरी दो हजार बीस में 54.5 पर रहा है। कोरोना वायरस से विश्व अर्थव्यवस्था में मंदी आयी है।


Post a Comment

please do not enter any spam link in the comment box