Keyboard क्या है और ये कितने प्रकार के होते हैं ?

आज आप जानेंगे कि – Keyboard क्या है और ये कितने प्रकार के होते हैं। जिसमे हम यह भी जानने का प्रयास करेंगे कि – Keyboard क्या है और किसे कहते हैं, Keyboard में पायी जाने वाली keys को क्या कहते हैं, कौन सा keyboard सबसे बेहतर होता है, keyboard के बारे में पूरी जानकारी, कंप्यूटर keyboard क्या है, keyboard के प्रकार, keyboard में कितने functions keys होते हैं इत्यादि बातो पर विस्तार से चर्चा करेंगे। 

कीबोर्ड क्या है ? (What is Keyboard)

सबसे पहले आपको बताना चाहूंगा कि – keyboard एक input device है। जिसका प्रयोग किसी भी data को type करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। Keyboard क्या है ( what is keyboard ) इससे पहले बता दूँ कि – keyboard computer का बहुत ही important part है। इसमें Typewriter की तरह बहुत से button या कुंजियाँ होती है |

इन keys को press करके शब्द संख्याएं और चिन्ह type किये जा सकते है। Buttons के उपर print चिन्हों से पहचाना जाता है की कोई button किस कार्य के लिए है | 

Keyboard कितने प्रकार के होते हैं (Types OF Keyboard) 

वैसे तो keyboard कितने प्रकार के होते हैं, यह सभी लोग नहीं जानते हैं। क्योंकि लोग keyboard का इस्तेमाल कैसे करे, यह अच्छी तरह से जानते हैं लेकिन Keyboard के प्रकार यानी Types Of Keyboards (Keyboard कितने प्रकार के होते हैं) को नहीं जानते हैं।

लेकिन दोस्तों ! यह हमारा लेख इसी लिए लिखा गया है कि – आपको यह पूरी जानकारी हो सके कि – Keyboard क्या है और keyboard कितने प्रकार के होते हैं। तो चलिए जानते हैं कि – कीबोर्ड कितने प्रकार के होते हैं। 

  • Ergonomic Keyboard 
  • Wireless Keyboard
  • Normal Keyboard 

1. Ergonomic Keyboard

सभी keyboard की तरह हम यह भी जानेंगे कि – Ergonomic keyboard क्या है (What is ergonomic keyboard) और एर्गोनॉमिक कीबोर्ड क्या है। यह एक खास प्रकार के keyboard होते हैं, जो अन्य keyboard की अपेक्षा user के लिए typing में काफी helpful होते हैं।

इस keyboard का shape कुछ अलग तरह से design किया गया है, जिससे लगातार type करते रहने से कलाई में होने वाले pain को यह कम करता है।

2. Wireless Keyboard

अब हम जानेंगे कि – Wireless keyboard क्या है (वायरलेस कीबोर्ड क्या है) और What is wireless keyboard ? तो दोस्तों ! जैसे कि wireless वर्ड से ही हमें पता चलता है कि – बिना wire वाला keyboard … 

इसलिए इस प्रकार के keyboard में wire नही होता है और इसे USB device के help से computer से connect कराया जाता है। हालांकि यह keyboard बहुत success नहीं रहा, क्योंकि इसमें तकनीकी खामियां अधिक होती है। यह keyboard सीमित दूरी तक ही कार्य करता है।

3. Normal Keyboard

क्या आप जानते हैं कि – Normal keyboard क्या है (नार्मल कीबोर्ड क्या है) यदि हाँ तो बहुत बढ़िया। मगर नहीं जानते हैं तो कोई बात नहीं, हम आपको Normal keyboard क्या है (what is normal keyboard) के बारे में detail से बताने जा रहें हैं। 

तो Normal keyboard ऐसा keyboard होता है, जो user द्वारा PC में साधारण रूप से जिस keyboard का प्रयोग किया जाता है, उसे Normal keyboard कहते हैं। इस कीबोर्ड में लगभग 108 keys होती हैं। इसे computer से connect करने के लिए cable द्वारा CPU से जोड़ा जाता है।

MAIN KEY-BOARD OR TYPEWRITER KEY

यह keyboard के बायें व् मध्य भाग में अंग्रेजी typewriter के समान स्थित रहता है। इसमें अंग्रेजी के सभी अक्षर (A से Z तक) अंक (0 से 9 तक) तथा कुछ विशेष चिन्ह रहते हैं। 

1. FUNCTION KEY

फंक्शन बटन keyboard के सबसे ऊपर लगे रहते है क्रमशः F1 से F12 तक। ये एक पूरे आदेश के बराबर होते हैं जिनकी आवश्यकता बार-बार पड़ती है। इनसे समय की बचत होती है। वे keys जिसमे किसी चल रहे Program के अनुसार विभिन्न आदेश पहले से Define होते है, Function keys कहलाती है। 

इनका उपयोग अलग-अलग Programs के अनुसार अलग-अलग होता है, अर्थात् ये Program की आवश्यकतानुसार Define की जाती है | किसी भी Function key से कार्य लेने के लिए उसे केवल दवाना पड़ता है | ये किसी भी key Board में F1 से F12 तक होती है। 

2. NUMERIC KEY-PAD

Numeric keypad कीबोर्ड के दायीं ओर calculator के समान लगे रहते हैं। इनका उपयोग संख्यात्मक data को तेजी से भरने के लिए किया जाता है। इनमे 0 से 9 तक , दशमलव (.) , जोड़ (+) , घटाव (-) , गुणा (×) , भाग (/) के बटन लगे रहते है।

Alphabet keys से उपर की अंकित में Number keys होती है। इन keys से 0 से 9 तक के अंक type किये जाते है। 

3. CURSOR MOVEMENT KEY

कर्सर मूवमेंट बटन keyboard के दायें नीचे वाले भाग में लगे होते है। इनमे arrow के निशान वाले चार भाग होते हैं। जिससे कर्सर को दायें, बायें, ऊपर तथा नीचे ले जाया जा सकता है। इन्हें कमशः दायां (RIGHT), बायां (LEFT), ऊपर (UP), नीचे (DOWN) ऐरो बटन कहते हैं। इन्हें एक बार दबाने से cursor एक स्थान नीचे या ऊपर या दायें या बायें हो जाता है।

Cursor Control Keys पर तीर के चिन्ह छपे होते है। इन keys से Cursor को मॉनिटर के पर्दे पर कही भी ले जाया जा सकता है। किसी भी key को दबाने पर Cursor उस पर छपे तीर की दिशा में एक स्थान सरक जाता है। कुंजी को दबाने पर Cursor एक लाइन निचे की और चला जायेगा और कुंजी को दबाने पर Cursor एक स्थान दायी और चला जायेगा। 

4. SPECIAL PURPOSE KEY

दोस्तों ! आईये अब जानते हैं कि – Special Purpose key क्या है (what is special purpose key), Special Purpose Keys कौन-कौन सी होती हैं, स्पेशल पर्पस कीस किसे कहते हैं, आदि special purpose based keys के बारे में जानते हैं। 

Special Purpose keys के जरिये हम जानेंगे कि – ESC key क्या है, Numeric Lock Key क्या है, Caps Lock Key क्या है, Shift Key क्या है, Tab key क्या है, Enter key क्या है, Delete Key है, Backspace Key क्या है, Scroll Key क्या है, Pause Key क्या है, Print Screen क्या है और अन्य important keyboard keys के बारे में जानेंगे। …. 

5. ESC KEY

ESC Button कीबोर्ड में ऊपर first बटन होती है। इसका प्रयोग पिछले work को समाप्त करने या चालू programme से बाहर जाने का होता है। इन key का Use किसी दी हुई Command को निरस्त या Cancel करने के लिए किया जाता है। 

6. NUMBER LOCK KEY

न्यूमेरिक लॉक बटन का प्रयोग संख्यानात्मक बटनों के साथ किया जाता है। नंबर लॉक NUM LOCK को ON करने पर कीबोर्ड के ऊपर दायीं ओर एक हरी बत्ती जलती है। तथा संख्यात्मक की- पैड के बटन के ऊपर लिखी  संख्याये टाइप करते हैं। नंबर लॉक (NUM LOCK) OFF होने पर ये बटन के नीचे लिखे कार्य करते हैं।

यह की-बोर्ड के दाये भाग में keys का एक विशेस समूह होता है, जिससे केवल Numberic अथवा संख्यात्मक data तैयार किया जाता है। यह key-pad एक साधारण Electronic Calculator की तरह होता है। संख्यात्मक डाटा तेयार करने की सुविधा के लिए यह key-pad लगाया गया है। इस पर हम केवल एक हाथ से Numberic अथबा संख्यात्मक data टाइप कर सकते है। इसको Active करने के लिए Num Lock का बटन On होना चाहिए। 

7. CAPS LOCK KEY

Caps Lock Button का प्रयोग करके english alphabet के छोटे अक्षरों या बड़े अक्षरों को लिखा जाता है। जब Caps Lock को ON किया जाता है तो ऊपर दायीं ओर एक हरी बत्ती जलती है तब वर्णमाला को बड़े अक्षरों में लिखा जाता है। Caps Lock OFF होने पर बत्ती बुझ जाती है तब वर्णमाला को छोटे अक्षरों में लिखा जा सकता है।

8. SHIFT KEY

जब किसी Button पर दो चिन्ह रहते है तो Shift button के साथ उस बटन को press पर ऊपर वाला चिन्ह type होता है। Shift Button को न दबाकर केवल उस बटन को अकेले ही दबाया जाय तो नीचे वाला चिन्ह टाइप होता है। अगर Caps Lock Button ON है तो शिफ्ट बटन के साथ अंग्रेजी वर्णमाला को दबाने पर छोटे अक्षर type हैं। अगर Caps Lock OFF है तो Shift Button के साथ अंग्रेजी वर्णमाला के button को press पर बड़े अक्षर टाइप होते हैं।

9. TAB KEY

Tab बटन का प्रयोग करके cursor को एक निश्चित दूरी जो Rural द्वारा तय की जा सकती है, तक कुदाते हुए ले जाया जा सकता है। किसी chart  table या excel-programme में एक खाने से दूसरे खाने तक जाने के लिए भी Tab Button का प्रयोग किया जाता है। अगर हम E-mail ID खोल रहे हैं तो e-mail को डालने के बाद tab button को press किया जाय तो password वाले खाने में वह चला जाता है।

यह Tabulator key का संचिप्त नाम है। Type करते समय यह Cursor को निश्चित दूरी तक एक बार में ले जाता है। इसके दारा Dialog Box में दिए गए options से किसी एक का चुना भी किया जा सकता है। 

10. ENTER KEY

Enter Button का प्रयोग computer को दिए गए निर्देशों को क्रियान्वित करने के लिए तथा screen पर type data को कंप्यूटर में  send के लिए किया जाता है। Word Processing Programme में नया paragraph या line आरम्भ करने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है।

11. DEL KEY

Delete Button का प्रयोग cursor के दायीं ओर स्थित character या space को एक एक कर delete किया जाता है। इसके द्वारा चयनित शब्द line, paragraph, file को मिटाया जा सकता है। Cursor के ठीक दायी और के अछर या चिन्ह को मिटाने के लिए इस key का उपयोग किया जाता है। 

12. BACK SPACE KEY

Backspace Button का प्रयोग करके cursor के ठीक बायीं ओर स्थित character या space को एक एक कर मिटाया जा सकता है। इसका प्रयोग typing के समय mistakes ठीक करने के लिए किया जाता है।

Cursor के ठीक बायीं और के अछर या चिन्ह को मिटाने के लिए इस key का उपयोग किया जाता है। 

13. SCROLL LOCK KEY

Scroll Lock Key का प्रयोग करने पर computer पर आ रही information को एक ही स्थान पर रुक जाती है। सूचना को फिर start करने के लिए Scroll Lock Button को दुबारा press करना पड़ता है। यह बटन की की-बोर्ड उपर पाज “की” के पास स्थित होता है। 

यह टेक्स्ट (TEXT) या रन कर रहे प्रोग्राम को अस्थ्यायी रूप से एक जगह  पर रोकता है। फिर से text या Program को सक्रिय करने के लिए इसी बटन को दुबारा प्रयोग करना होता है। 

14. PAUSE KEY

Pause Button का कार्य scroll lock बटन की तरह है। किसी भी दूसरे बटन को दबाने पर information पुनः आनी start हो जाती है। यह “Key” की-बोर्ड के उपर दाहिने तरफ स्थित होता है। यह बटन अस्थाई तौर पर चल रहे Programme को रोक देता है तथा इसी बटन को दवाने पर फिर से Program चलने लगता है; जैसे – कंप्यूटर Game में अस्थायी रूप से game को रोकने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है। 

15. PRINT SCREEN KEY

Print Screen Button को दबाने पर screen पर जो कुछ दिख रहा है उसे print किया जा सकता है। Print Screen Button को press करे (CTRL+C) बटन को दबाया जाय तो वह स्क्रीन की फ़ोटो ले लेती है जिसे पेंट में पेस्ट करके देखा जा सकता है। इस key को shift key के साथ प्रयोग कर Screen पर प्रदशिर्त फाइल या फोटो प्रिंटर के दुआर प्रिंट किया जाता है। 

16. Alphabet Keys

इन कुंजियो से English के अछर टाइप किये जाते है। किसी Key को अकेले दबाने पर छोटा अछर टाइप होता है। उसी को सिफ्ट के साथ दबाने पर Capital अछर टाइप होता है। इनके ठीक उपर चार और बटन या keys होती है जो निमलिखित है-

  • HOME – Home key, Cursor को line के आरम्भ में ले जाती है।  
  • END – End key, Cursor को line के अन्त में ले जाता है। 
  • PAGE-Up – यह key Cursor को एक page आगे ले जाती है।  
  • PAGE-Down – यह key Cursor को एक Page पीछे ले जाती है।  

17. Control key

यह एक Combination key है जो किसी और key के साथ मिलकर विशेस कार्य करती है। इसका कार्य विभिन्न Sotware के अनुसार बदलता रहता है। 

18. Enter key

इसे Enter key के नाम से भी जाना जाता है तथा इसे Computer को दिए गये किसी Command को process करवाने के लिये use किया जाता है। 

19. Shift key

Keyboard पर किसी बटन पर दो Character अंकित रहते है। उपर वाले Character को टाइप करने के लिए Shift Key का उपयोग करते है। जैसे कि की-बोर्ड पर 7 के उपरी भाग में & character है। अत: & को टाइप करने के लिए शिफ्ट के साथ 7 बटन दबाते है तो & टाइप होता है नहीं तो 7 टाइप होगा। 

अगर Caps Lock On है तो Shift के साथ कोई अछर टाइप करने पर छोटे अछर (small letter या Lower case) में टाइप होगा की-बोर्ड में दो Shift keys होती है। 

20. Caps Lock key 

यह एक Toggle बटन से Toggle Button अर्थात् एक बार दबाने पर वह active तथा दूसरी बार उसे दबाने पर de-activate हो जाता है | इसे सक्रिय (On) रखने पर सारे अछर बड़े अछरो (Capital letter)में लिखे जाते है जिसे कंप्यूटर में upper case कहते है | इसे पुनः दबाकर निष्क्रिय कर दिया जाता है, जिससे छोटे अछरो (small letter या Lower case) में लिखना आरम्भ हो जाता है। 

 21. Num Lock key

यह एक Toggle Button है तथा इसके On रहने से संख्यात्मक की पैड (Numberic key pad)On रहता है तथा इसके Off रहने से Numberic key pad Cursor Control keys की तरह काम करता है। 

22. Space Bar key

दो शब्दों (words) के बीच में space देने के लिए space bar key का प्रयोग किया जाता है। 

Keyboard क्या है और ये कितने प्रकार के होते हैं ?

तो दोस्तों ! आपको हमारा यह लेख Keyboard क्या है और ये कितने प्रकार के होते हैं कैसा लगा comment में जरूर बताये। और यदि कोई सलाह व् सुझाव है तो जरूर दीजिये। जिससे content को और भी better बनाने में सहायता हो सके। 

हमने इस लेख में जाना कि – keyboard क्या है और कितने प्रकार के होते हैं जिसके साथ-साथ हमने यह भी जाना कि – Keyboard किसे कहते हैं, Keyboard में पायी जाने वाली keys को क्या कहते हैं, कौन सा keyboard सबसे बेहतर होता है, keyboard में कितने functions keys होते हैं इत्यादि।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here